B.Com Full Form in Hindi | B.Com कोर्स करने के लिये योग्यता

आज हमने इस आर्टिकल में B.Com Full Form in Hindi, B.Com ka Full Form, इत्यादि B.Com से सम्बंधित प्रश्नो का उत्तर बहुत ही विस्तारित रूप में दिया है जिसे आप इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पढ़कर जान सकते है.

अगर आप b. com से सम्बंधित जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग पर आये है तो आप एकदम सही जगह आये है. आपको B.Com के बारे में जानने के बाद कहीं और जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी।

आप इस आर्टिकल को बिना स्किप किये शुरू से अंत तक पढ़े तांकि कोई भी जानकारी छूटे न.

Keep Going on Meaning

B.Com Full Form in Hindi

B.Com Full Form in Hindi “वाणिज्य स्नातक” होता है. इसी का अंग्रेजी फॉर्म “Bachelor of Commerce” होता है.

B. Com: Bachelor of Commerce

B. Com. Full Form

जैसे की हमने बताया B.Com Ka Full FormBachelor of Commerce” होता है और B.Com में कुल 6 सेमेस्टर होते है और 3 साल का कोर्स होता है. 6 महीने में प्रत्येक सेमेस्टर कराया जाता है. B.Com एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स होता है.

B.Com | बी.कॉम क्या है? (What is B.Com in Hindi)

B.Com एक ऐसा कोर्स है. जिसे करने के बाद आप ग्रेजुएट हो जाए है अर्थात ये एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स है. B.Com कोर्स कुल तीन साल का होता है और 6 सेमेस्टर होते है. और 6 सेमेस्टर को 3 साल के समय में कराया जाता है.

B.Com कोर्स उन छात्रों के लिए होता है जो अपनी 12TH क्लास को कॉमर्स सब्जेक्ट से पूरा करते है B.Com कोर्स उनके लिए अच्छा रहता है. B.Com को सभी यूनिवर्सिटी करवाती है आप जिससे करना चाहते है उससे कर सकते है

इस कोर्स में हमें Marketing, Bussiness Management, Economics, Finances, Human Resources तथा accounting इन सभी प्रकार के सब्जेक्ट पढ़ाये जाते है.

TGT Full Form in Hindi

B.Com कोर्स कितने साल का होता है? (B.Com Course Duration)

B.Com कोर्स का कुल समय 3 साल होता है। जिसमे आपको कुल 6 सेमेस्टर पढ़ाये जाते है. आप जब एक साल के दोनों सेमेस्टर की परीक्षा में पास हो जाते है तभी अगले सेमेस्टर में जाने लायक होते है. प्रतिवर्ष 2 सेमेस्टर होते है. और पढ़ाने के बाद उन सेमेस्टर की परीक्षा ली जाती है. आपको अगले सेमेस्टर के लिए पहले की परीक्षा को पास करना होता है.

B.Com कोर्स करने के लिये योग्यता? (Eligibility For B.Com)

B.Com कोर्स करने के लीए कुछ योग्यताएँ होनी चाहिए जो कुछ इस प्रकार है.

  • B. Com. करने के लिए सबसे पहले आपकी ट्वेल्थ (12th) क्लास कॉमर्स से की होनी चाहिए अर्थात ट्वेल्थ (12th) में आपके पास कॉमर्स होनी चाहिए।
  • कॉमर्स के साथ ट्वेल्थ (12th) में मैथ सब्जेक्ट का होना अनिवार्य है. तभी आप B.Com कोर्स कर सकते है.
  • आप इसे 10th) के बाद भी कर सकते है लेकिन आपके पास 10th के बाद 3 साल का डिप्लोमा होना चाहिए तभी आप B.Com कर पाएंगे
  • इस कोर्स मुख्य रूप से दो स्ट्रीम के स्टूडेंट कर सकते है कॉमर्स तथा पीसीएम (Commerce/PCM) इसके आलावा नहीं कर सकते।
  • आपकी पास की हुई ट्वेल्थ (12th) क्लास में कम से कम 45% मार्क्स होने चाहिए इसके साथ आप B.Com कर पाएंगे।

यदि आप B.Com करना चाहते है तो इन सभी योग्यताओ का होना अनिवार्य है. यदि है तो आप बेझिझक B.Com कर पाएंगे।

B.Com कोर्स कैसे कर सकते हैं

B.Com कोर्स को आप दो मोड से कर सकते है जो कुछ इस प्रकार है.

  1. Regular mode
  2. Distancing mode

1. Regular Mode

रेगुलर मोड से B. Com. करने के लिए आपके पास 12TH में कम से कम 45% अंक होने चाहिए और आपको रेगुलर मोड में प्रतिदिन कॉलेज जाना पड़ेगा और अपनी क्लासेज अटेंड करनी पड़ेगी तब आपकी ग्रेजुएशन रेगुलर मोड से हो जाती है.

2. Distancing Mode

आप Distancing Mode से भी B.Com कोर्स को कर सकते है. Distancing Mode में आपको कॉलेज जाने की आवश्यकता नहीं होती और आपको फार्म भरवाने के बाद सीधे एग्जाम देने जाना होता है लेकिन आप घरपर सेल्फ स्टडी भी कर सकते है. लेकिन Distancing Mode से करने के लिए आपके 12TH क्लास में 50% मार्क्स होने अनिवार्य है.

MSC Full Form Kya hai

B.Com कोर्स की प्रवेश प्रक्रिया? (Admission Process in B.Com Course)

बीकॉम कोर्स में प्रवेश प्रकिर्या को दो तरीको से किया जा सकता है.

  1. Merit Based 
  2. Entrance Exam

1. Merit Based प्रवेश प्रक्रिया

आज अधिकतर यूनिवर्सिटी कॉलेजेस मेरिट बेस्ड परीक्षा अंको के आधार पर B.Com कोर्स के लिए प्रवेश दे देते है लेकिन अब आपके ऊपर निर्भर करता है की आप की प्रवेश प्रकिरिया को अपनाते है.

2. Entrance Exam Based प्रवेश प्रक्रिया

आज कुछ कॉलेजेस में B.Com कोर्स के प्रवेश के लिए आपको एक प्रवेश परीक्षा देनी पड़ती है उसमे पास होने के बाद ही आप B.Com कोर्स के लिए प्रवेशित मने जाओगे।

जब आप अपने B.Com कोर्स प्रवेश के लिए जाये तो पहले इस बात का पता करे की वहां आपको मेरिट बेस पर प्रवेश मिलेगा या प्रवेश परीक्षा देनी होगी।

Aids Full Form in Hindi

B.Com के बाद नौकरी के पद (Job Position)

बी-कॉम के बाद जब आपको नौकरी प्राप्त होती है तो उसमे आपके ये पद हो सकते है. जो कुछ इस प्रकार है.

  • Budget Analyst
  • Business Consultant
  • Certified Public Accountant
  • Account Executive
  • Event Manager
  • Book keeper
  • Financial Analyst
  • Accountant
  • Bank PO
  • Chief Financial Officer

B.Com के बाद का वेतन? (Salary After B.Com)

बी-कॉम के बाद आपका वेतन कंपनी कैसी है. आपकी जॉब पद आपका कार्य, बहुत साडी चीजों पर निर्भर करता है की आपकी सालराय कितनी होती लेकिन अगर हम औसतन सैलरी की बात करे तो आप किसी भी पद पर 20 से 25 हज़ार प्रतिमाह सैलरी प्राप्त कर सकते है.

B.Com के बाद नौकरी के पद अलग अलग हो सकते है. और उस पद के हिसाब से आपको सैलरी दी जाती है. आपकी सैलरी आपके पद पर निर्भर करती है.

B.Com कोर्स की फीस? (B.Com Course Fee)

B.Com कोर्स की फीस का फिक्स बता पाना मुश्किल है क्योंकि आप जिस कॉलेज से करते है सभी की फीस अलग अलग होती है. लेकिन आप यदि किसी प्राइवेट कॉलेज से B.Com कोर्स करते है तो आपको अधिक फीस देनी पड़ेगी लेकिन वही सरकारी कॉलेज में आपको कम फीस में B.Com कोर्स हो जायेगा। अब ये आपके ऊपर निर्भर करता है की आप किस कॉलेज से B.Com कोर्स करते है.

हम दोनों टाइप के कॉलेजेस की औसतन फीस बता देते है.

  • Government College की फीस: 5000 से 7000 रूपये/प्रतिवर्ष
  • Private College की फीस: 10000 से 100000 रूपये/प्रतिवर्ष

BDS Full Form in Hindi

B.Com कोर्स करने के फायदे? (Advantages of B.Com Course)

B.Com कोर्स करने बहुत से फायदे होते जो कुछ इस प्रकार है.

  • B.Com कोर्स करने के बाद आप आराम से जॉब की प्राप्ति कर सकते है. और कंप्यूटर क्षेत्र में ज्ञान भी बढ़ता है.
  • जब आप किसी गवर्नमेंट नौकरी की वेकेंसी में फॉर्म भरते है तो आप B.Com को ग्रेजुएशन दिखा कर आसानी से भर सकते है.
  • B.Com कोर्स करना आसान है इसलिए आप अपने ग्रेजुएशन करने के लिए भी B.Com कोर्स को कर सकते है और आप अंडर ग्रेजुएट हो जायेंगे।

बी.कॉम के बाद रोजगार के क्षेत्र (Employment Areas)

जब आप B.Com कोर्स पूरा कर लेते है तो आप निम्नलिखित क्षेत्रो में नौकरी प्राप्त कर सकते है जो कुछ इस प्रकार हैं.

  • B.Com कोर्स के बाद मुख्य रूप से बैंकिंग क्षेत्र में नौकरी प्राप्त कर सकते है.
  • Business Consultancies
  • Educational Institute
  • Foreign Trade centers
  • Working Capital Management
  • Merchant Banking Centers
  • Industrial Houses
  • इनके आलावा आप पब्लिक अकाउंटिंग फॉर्म्स में भी जॉब/रोजगार प्राप्त कर सकते है.

Hooking Up Full Form in Hindi

FAQ

B.Com कोर्स करने के फायदे?

B.Com कोर्स करने के बाद आप आराम से जॉब की प्राप्ति कर सकते है. और कंप्यूटर क्षेत्र में ज्ञान भी बढ़ता है.

B.Com Full Form in Hindi क्या है?

B.Com Full Form in Hindi “वाणिज्य स्नातक” होता है. इसी का अंग्रेजी फॉर्म “Bachelor of Commerce” होता है.

B.Com कोर्स करने के लिये योग्यता?

B. Com. करने के लिए सबसे पहले आपकी ट्वेल्थ (12th) क्लास कॉमर्स से की होनी चाहिए अर्थात ट्वेल्थ (12th) में आपके पास कॉमर्स होनी चाहिए।
कॉमर्स के साथ ट्वेल्थ (12th) में मैथ सब्जेक्ट का होना अनिवार्य है. तभी आप B.Com कोर्स कर सकते है.

B.Com के बाद का वेतन?

बी-कॉम के बाद औसतन सैलरी आप किसी भी पद पर 20 से 25 हज़ार प्रतिमाह सैलरी प्राप्त कर सकते है.

आज आपने क्या सीखा

आज हमने इस आर्टिकल में B.Com Ka Full Form, B.Com का अर्थ इस प्रकार के और भी B.Com Full Form से सम्बंधित जानकारी को हमने इस आर्टिकल में दिया है जिसे आप इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक पढ़कर जान सकते है.

 अगर आपने हमारे आर्टिकल को शुरू से अंत तक पढ़ा होगा तो आपको अब तक B.Com Ka Full Form के बारे में जानकारी प्राप्त हो गयी होगी। अगर अभी आपके पास कोई प्रश्न है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है.

यदि आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और अपने सोशल हैंडल्स पर भी साझा करे तांकि वो भी इसका फायदा उठा पाए.

ऐसी और भी महत्वपूर्ण जानकारियों के लिए हमारे ब्लॉग Hindimont पर विजिट करते रहे और अधिक जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करे.

Leave a Comment