CV Full Form ‌in‌ ‌Hindi‌ ‌|‌ ‌CV‌ ‌का‌ ‌फुल‌ ‌फॉर्म‌ ‌क्या‌ ‌है?‌

CV Full Form in Hindi, CV का पूरा नाम, CV का मतलब, CV क्या है, CV फुल फॉर्म, ऐसे बहुत से सवाल जो CV से सम्बंधित है उनके जवाब हमने इस आर्टिकल में बहुत ही विस्तारित रूप में दिए है.

अगर आप CV से सम्बंधित किसी भी प्रकार सही जानकारी को प्राप्त करने के लिए इस ब्लॉग पर आये तो आपको यहां CV के सभी प्रश्नो के जवाब आपको मिल जायेंगे।

आप इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़े आपको CV से सम्बंधित सभी जानकारिया यहीं मिल जाएगी। चलिए CV Full Form in Hindi शुरू करते है और डिटेल्स में जानते है.

PBX FULL FORM

CV Full Form in Hindi

CV Full Form

दोस्तों अगर आप आज के समय में एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी के लिए जाते है तो वहां सबसे पहले आपसे CV माँगा जायेगा।

CV में नौकरी की आवश्यकता की सभी जानकारियों को रखा जाता है जिसे हमें नौकरी मिलने में मदद मिलती है और आपको भी अपनी CV बना लेनी चाहिए।

CV फुल फॉर्म के साथ बहुत सी जानकारिया विस्तृत रूप में प्राप्त करेंगे।

CV Ka Full Form

CV फुल फॉर्म “Curriculum Vitae” होता हैं, और अगर हिंदी की बात करे तो ऐसे “शैक्षिक अभिलेख एवं कार्य अनुभव” के नाम से जानते है.

CV में आपकी डिटेल्स के साथ-साथ काम के अनुभव को भी दर्शाया जाता है. जिसे आपकी CV को देखने के बाद आपके बारे में सभी जानकारिया प्राप्त हो जाये।

  • C – Curriculum 
  • V – Vitae

CV Full Form

CV  हिंदी फुल फॉर्म शैक्षिक अभिलेख एवं कार्य अनुभव  होता है, CV  का पूरा नाम अंग्रेजी में Curriculum Vitae का पता चल गया होगा।

  • सीवी (CV) हिंदी में – शैक्षिक अभिलेख एवं कार्य अनुभव

DEO FULL FORM

सीवी का मतलब हिंदी में

CV एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा आपको जॉब देने वाले को बिना आपसे पूछे आपके बारे में सभी जानकारिया मिल जाती है उस जानकारियों में आपकी शेक्षिकता, कार्य अनुभव जैसा सभी कुछ शामिल होता है.

आप जब अपनी CV बनाए तो आप अपनी जॉब की अनुसार जानकारी को CV में डाले ताकि रिक्रूटर को समझने में को भी परेशानी ना हो. 

कंपनी को कभी भी आपकी पूरी डिटेल्स जानने में न तो रूचि होती है और न ही इतना टाइम की वो आपकी CV को देखे वो सबसे अच्छे अनुभव वाले व्यक्ति को जॉब पर रखना चाहेंगे। तो इसलिए आप अपनी डिटेल्स को बहुत ही अच्छे से दर्शाए जो की उन्हें समझने में अधिक टाइम न लगे.

CV को क्यों बनाया जाता हैं

दोस्तों जॉब के लिए आपको CV बनाना पड़ेगा क्योंकि  जब आप जॉब के लिए किसी भी कंपनी के पास जाते है तो कंपनी के पास इतना समय नहीं होता की वो आपकी सभी डिटेल्स आपसे पूछे।

CV में आपकी सभी पर्सनल डिटेल होती है और साथ ही आपका कार्य अनुभव होता है जिससे आपकी योग्यता को जज किया जाता है और उसके बाद निश्चित होता है की आपको जॉब पर रखा जायेगा या नहीं।

जब भी कोई कंपनी जो प्राइवेट है वो जॉब के लिए डालती है तो वहां बहुत से लोग होते है जो सब उस जॉब को पाने के लिए आये होते है.

शैक्षिक योग्यता के साथ सभी जानकारी  लिए कंपनी को आपके CV की आवश्यकता होती है.

CV के अंदर क्या क्या जानकारिया होती है

CV के अंदर निम्न प्रकार की जानकारिया होती है.

  • CV में व्यक्ति का नाम, ईमेल, और फ़ोन नंबर इसके साथ आपका पता भी CV में मौजूद होना चाहिए।
  • शैक्षिक योग्यता जो आपको अपने CV में जरूर से देना चाहिए।
  • CV के अंदर महत्वपूर्ण जानकारी आपकी कार्य क्षेत्र के अनुभव के बारे में बताना होती है.
  • इन सभी जानकारियों के बाद आप अपना मैरिटल स्टेटस के साथ Hobbies, language, और Achievements के बारे में बता सकते है.

अभी आपके मन में होगा की CV के कुल कितने पेज होने चाहिए तो इसके कुल पेज 2-3 पेज ही चाहिए।

CV में कोनसी जानकारियों को नहीं देना चहिये।

ये कुछ जानकारियां है जाप की आपको कभी भी CV में नहीं लिखनी चाहिए।

  • CV के अंदर कभी भी अपनी फेमिली के बारे में नहीं बताना चाहिए।
  • अगर आप पहले कहीं जॉब करते थे तो कभी उस जॉब का पैकेज को CV में शेयर न करे
  • अगर आपने पिछली जॉब को छोड़ा या आपको निकला गया है वैसे कोई भी कारण आपको CV में नहीं लिखना।

B TECH FULL FORM

CV बनाने का Format क्या होता हैं

CV बनाना बहुत ही आसान है लेकिन अगर में आपको बोलू की CV को भी अगर एक फॉर्मेट में बहुत ही अच्छे तरीके में बनाये तो आप आपका CV पढ़ने और समझने में आसानी होगी।

शैक्षिक योग्यता

इसमें आपको अपनी शैक्षिक योग्यता को दर्शना होता है. अपने स्कूल से लेकर आपकी पढाई पूरा करने तक स्कूल और बोर्ड के नाम के साथ ही किस सन में किस शैक्षिक योग्यता को प्राप्त किया सभी को अच्छे से दर्शाए।

Personal Profile

इसमें आपको अपना पर्सनल डिटेल्स को देना होता हैं. जैसे अपना नाम और पिताजी का नाम, जनम तिथि, लिंग, भाषा, पता, वैवाहिक , राष्ट्रीयता, इत्यादि को पर्सनल डिटेल में आप दे सकते है.

इसमें हमने पहले ही बताया है की अपनी फॅमिली के बारे में किसी भी प्रकार की जानकारी ना डाले।

कार्य अनुभव

इसमें आपको अपने कार्य के अनुभव को बताना होता है. अगर आप पहले कहीं जॉब करते थे तो आपने कार्य  कितने समय से कर रहे है ये आप वहां डाल सकते है.

अन्य अनुभव

अगर आपको कंपनी के काम के आलावा कोई और भी कार्य आता है तो आप इसमें उस कार्य को दर्शा सकते है.

Career Objective (आजीविका का उद्देश्य)

इसमें आप अपने कार्य के अनुसार कुछ पॉजिटिव बातो को लिख सकते है जो की आपकी आजीविका का उद्देश्य है.

CV के फायदें क्या है

CV बनाने के बहुत से फायदे है जो इस प्रकार है.

  • CV से कंपनी को हमारे बारे में सभी जानकारी बिना पूछे मिल जाती है.
  • CV से हमारे बारे में सभी जानकारी हम हमारी अनुसार दे सकते हैं जैसे हम इंटरव्यू के लिए तैयार होके आये है.
  • CV से सामने वाले को हमारे कार्य अनुभव में पिछले कंपनी या कहीं भी हो पता चल जाता है.

CV के और भी बहुत से फायदे होते है जो की आपके कार्य क्षेत्र के अनुसार अलग अलग हो सकते है.

ICICI FULL FORM

आज आपने क्या सीखा

दोस्तों आपने आज इस आर्टिकल में  CV Full Form, CV Full Form in Hindi, CV का मतलब, CV फॉर्मेट, CV क्या हैं, CV के फायदे, CV की जरुरत, और भी CV से सम्बंधित बहुत सी जानकारी को इस आर्टिकल में विस्तारित रूप में दिया है.

आप इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ा है तो आपको पता होगा की CV का फुल फॉर्म Curriculum Vitae होता हैं, और भी बहुत सी जानकारिया इसमें दी है.

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया तो आप हमें कमेंट के माध्यम से जरूर बताये और अगर कोई भी प्रश्न हो तो आप हमसे पूछ सकते है.

हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे.

ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारी को पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग Hindimont पर विजिट करते रहे.

Leave a Comment